इन राज्यों में पड़ेगी सबसे ज्यादा गर्मी, जाने अपने राज्य के मौसम का हाल 

दिल्ली हरियाणा

नई दिल्ली: 21अप्रैल, देश के कई राज्यों में इस सप्ताह गर्मी बढ़ने की आंशका है। स्काईमेट वेदर के मुताबिक मध्य अप्रैल से जून तक अधिकांश हिस्सों में मानसून के आने तक गर्मी को चरम अवधि माना गया है। हीटवेव एक विस्तारित शुष्क वर्तनी में आता है। या गरज के साथ राहत मिलती है या हवा के पैर्टन में बदलाव देखने को मिलता है। स्काईमेट के अनुसार आने वाले 48 घंटों के लिए मौसम करवट लेगा। विदर्भ, छत्तीसगढ़ और ओडिशा में फैली ट्रफ के कारण यहां प्री-मानसून आएगा। यहां बढ़ते तापमान पर रोक लगेगी।

पश्चिम राजस्थान और गुजरात में हवा के पैटर्न में बदलाव वेदर प्रणाली के कारण होता है।

इन दो राज्यों में तापमान में नियंत्रण होगा। अगले 3 दिनों तक तापमान 40 डिग्री के आसपास रहेगा। स्काईमेट के अनुसार प्री-मानसून गतिविधि 24 अप्रैल से देश के अधिकांश हिस्सों से बाहर होगी। पहले की मौसम गतिविधियों के कारण तापमान में वृद्धि नहीं होगी। इस कारण हीटवेव की स्थिति नहीं बनेगी। हालांकि थोड़ी राहत के बावजूद मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र और राजस्थान में 41 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान जाने का अनुमान है। बाड़मेर, जैसलमेर, फलौदी, बीकानेर, पाली और नागौर सहित कुछ शहरों में तापमान 42 डिग्री तक जा सकता है। वहीं विदर्भ के ब्रह्मपुरी, चंद्रपुर, नागपुर, वर्धा और गोंदिया में भी पारा बढ़ने की संभावना है। साथ ही गुजरात, मध्यप्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा और छत्तीसगढ़ के कई स्थानों पर तापमान 42 डिग्री तक जाएगा।

अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू-कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश के कई क्षेत्रों में गरज के साथ बारिश की संभावना है। राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिम यूपी में आंधी और वर्षा दर्ज हो सकती है। उत्तर प्रदेश के मध्य व पूर्व इलाकों, दक्षिण छत्तीसगढ़, ओडिशा, तेलंगाना और आंतरिक तमिलनाडु में हल्की बरसात हो सकती है। वहीं केरल, अंडमान व निकोबार, कर्नाटक और सिक्किम में हल्की से मध्यम वर्षा संभव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *